छ ग बोर्ड कक्षा 10 प्रश्नपत्र हिंदी विशिस्ट 2017

हिन्दी विशिष्ट
निर्देश:1. सभी प्रश्र हल कीजिए।
2. प्रश्र क्रमांक 1 वस्तुनिष्ठ प्रश्र खण्ड-अ तथा खण्ड-ब में विभक्ता है। प्रत्येक खण्ड में 5 अंक निर्धारित हैं।
3. प्रश्र क्रमांक 2 से 7 तक अतिलघुउत्तरीय प्रश्रों के उत्तर लगभग 30 शब्दों में दीजिए। प्रत्येक प्रश्र में 2 अंक निर्धारित हैं।
4. प्रश्र क्रमांक 8 से 13 तक लघुउत्तरीय प्रश्रों के उत्तर लगभग 50 शब्दों में दीजिए। प्रत्येक प्रश्र में 3 अंक निर्धारित हैं।
5. प्रश्र क्रमांक 14 से 19 तक दीर्घउत्तरीय प्रश्रों के उत्तर लगभग 75 शब्दों में दीजिए। प्रत्येक प्रश्र में विकल्प दिया गया है। प्रत्येक प्रश्र में 4 अंक निर्धारित हैं।
6. प्रश्र क्रमांक 20 से 22 तक एवं प्रश्र क्रमांक 25 के उत्तर लगभग 150 शब्दों में दीजिए। इनमें विकल्प दिया गया है। प्रत्येक प्रश्र में 5 अंक निर्धारित हैं।
7. प्रश्र क्रमांक 23 एवं 24 में 8-8 अंक निर्धारित हैं। प्रश्र क्रमांक 24 का उत्तर लगभग 250 शब्दों में दीजिए। इमें विकल्प दिया गया है।
प्र.1. खण्ड (अ) उचित सम्बन्ध जोडि़ए :
क. ख.
1. पल्लव - नरोत्तमदास
2. आधुनिक मीरा - सुमित्रानन्दन पंत
3. छत्तरीसगढ़ी शोध संस्थान - नाटक
4. सुदामा चरित - महादेवी वर्मा
5. चन्द्रगुप्त - रायपुर
खण्ड-(ब) सही विकल्प चुनकर लिखिए :
1. ‘नीलाम्बर’ शब्द में समास है :
अ. तत्पुरुष ब. द्विगु
स. द्वन्द्व द. कर्मधारण
2. ‘उसने कहा था’ कहानी के कहानीकार हैं:
अ. चन्द्रधर शर्मा गुलेरी ब. प्रेमचन्द्र
स. फणीश्वरनाथ रेणु द. जयशंकर प्रसाद
3. ‘प्रिय सुत! वह मेरा प्रण प्यारा कहाँ?’ में रस है :
अ. शांत ब. करुण
स. रौद्र द. भयानक
4. एल्फ्रेड बी. नोबेल निवासी थे :
अ. कोलकाता के ब. केरल के
स. स्वीडन के द. यूरोप के
5. ‘झाँसी की रानी’ काव्य है :
अ. महाकाव्य ब. खण्डकाव्य
स. आख्यानक द. मुक्तक
प्र2. ‘वाचक’ शब्द किसे कहते हैं? उदाहरण दीजिए।
प्र3. ‘रोला’ की परिभाषा लिखिए।
प्र4. ‘आँखे खुलना’ मुहावरा का अर्थ लिखकर वाक्य में प्रयोग कीजिए।
प्र5. डॉ. सुब्रह्मण्यम चंद्रशेखर को अमेरिका क्यों जाना पड़ा?
प्र6. गेय मुक्तक काव्य रचयिता दो कवियों के नाम लिखिए।
प्र7. शब्द-समूहों के लिए एक शब्द लिखिए :
1. जो दूर की बात सोचे 2. जो इस लोक में न हो
प्र8. झुंझलाहट क्यों उत्पन्न होती है?
प्र9. मधुलिका ने महाराज के द्वारा दी गई स्वर्ण-मुद्राओ को महाराज पर न्यौछावर कर क्यों बिखेर दिया?
प्र10. कृष्ण और सुदामा के गुरु कौन थे? सुदामा के अनुसार ब्राह्मण का धन क्या है? ‘सुदामा चरित’ किस प्रकार का काव्य है?
प्र11. डॉ. खुराना को वापस विदेश क्यों जाना पड़ा?
प्र12. शुक्ल युग के गद्य की तीन विशेषताएँ लिखिए।
प्र13. निम्रलिखित अशुद्ध वाक्यों को शुद्ध कर लिखिए:
1. महादेवी वर्मा विद्वान महिला थी।
2. तुम तुम्हारे घर जाओ।
3. इस समय आपकी आयु क्या है?
प्र14. गुरु घासीराम के किन्हीं चार उपदेशों को लिखिए।
अथवा
‘पंडवानी’ किसका छत्तीसगढ़ी संस्करण है? तीजन बाई किस शैली की गायिका हैं?
दो पंडवानी गायकों के नाम लिखिए।
प्र15. सुमित्रानंदन पंत का परिचय निम्र बिन्दुओं के आधार पर दीजिए :
1. दो रचनाएँ 2. दो प्रमुख काव्यगत विशेषताएँ 3. साहित्य में स्थान
अथवा
संत कबीर का परिचय निम्र बिन्दुओं के आधार पर दीजिए:
प्र16. आचार्य रामचंद्र शुक्ल का परिचय निम्र बिन्दुओं के आधार पर दीजिए :
1. दो रचनाएँ 2. भाषा एवं शैली 3. साहित्य में स्थान
अथवा
डॉ. भगवतशरण उपाध्याय का परिचय निम्र बिन्दुओं के आधार पर दीजिए :
प्र17. अस्पृश्यता के संबंध में गाँधीजी के दृष्टिकोण को स्पष्ट कीजिए :
अथवा
मैया का पंचरंग श्रृंगार कैसे किया जाता है? इसमें शामिल किन्हीं चार रंगों के बारे में लिखिए।
प्र18. उदयसिंह को बचाने के लिए पन्ना ने क्या-क्या निर्णय लिए?
अथवा
मदर टेरेसा का संक्षिप्त परिचय दीजिए। उनके द्वारा किए गए सेवा एवं शांति संबंधी कार्यों का उल्लेख कीजिए।
प्र19. निम्रलिखित शब्दों का पूर्ण रूप लिखिए :
1. आइ.सी 2. आई.यू. 3. ओ.यू. 4. सी.यू.
अथवा
उत्तर दिशा का ज्ञान कैसे प्राप्त किया जाता है? उत्तर दिशा की जानकारी हेतु छात्रों ने क्या सुझाव दिए?
प्र20. निम्रलिखित पद्यांश की संदर्भ-प्रसंग सहित व्याख्या कर साहित्यिक सौंदर्य लिखिए:
नीलांबर परिधान हरित पट पर सुंदर है,
सूर्य-चंद्र युग मुकुट, मेखला रत्नाकार है,
नदियाँ प्रेम प्रवाह, फूल तारे मंडन हैं,
बंदीजन खग-वृंद, शेषऊल सिंहासन है,
करते अभिषेक पयोद हैं, बलिहारी इस वेप की।
हे मातृभूमि! तू सत्य ही, सगुण मूर्ति सर्वेश की।।
अथवा
कबहूँ ससि माँगत आरि करै, कबहूँ प्रतिबिंब निहारि डरै।
कबहूँ करताल बजाइ कै नाचत, मातु सबै मन मोद भरै।।
कबहूँ रिसिआइ कहैं हठि कै, पुनि लेत सोई जेहि लागि अरै।
अवधेस के बालक चारि सदा, तुलसी मन-मोदिर में बिहरै।।
प्र21. निम्रलिखित गद्यांश की संदर्भ-सहित व्याख्या कर साहित्यिक सौंदर्य लिखिए।
‘कंधे डाल दूँ तो गजब हो जाए, दुनिया लडख़ड़ाकर गिर पड़े, जमाने का दौर बंद हो जाए। पर मैं कंधे नहीं डालता, न डालूँगा। मैंने निरंतर निर्माण किया है, विध्वंस न करूँगा। यदि करना हुआ तो पुनर्निर्माण करूँगा, जिसके लिए मुझे थकान नहीं महसूस होती, कभी अलकस नहीं लगती, रोआँ-रोआँ फडक़ता रहता है।’
अथवा
‘कर्म में आनंद का अनुभव करने वालों का ही नाम कर्मण्य है। धर्म और उदारता के उच्च कर्मों के विधान में ही एक ऐसा दिव्य आनन्द भरा रहता है कि कत्र्ता को वे कर्म ही फलस्वरूप लगते है। अत्याचार का दमन और क्लेश का शमन करते हुए चित्त में जो उल्लास और तृष्टि होती है वही लोकोपकारी कर्मवीर का सच्चा सुख है।’
प्र22. मधुलिका की चारित्रिक विशेषताएँ लिखिए।
अथवा
‘वर्षा सुन्दरी के प्रति’ गीत में वर्षा और रूपसि में निहित समानताओं का उल्लेख कीजिए।
प्र23. स्थानान्तरण प्रमाण-पत्र (टी.सी.) प्राप्त करने हेतु अपने प्राचार्य को एक आवेदन-पत्र लिखिए।
अथवा
अपने पिता को एक पत्र लिखिए, जिसमें आपकी अध्ययन सम्बंधी समस्याओं का उल्लेख हो।
प्र24. निम्रलिखित में से किसी एक विषय पर लगभग 250 शब्दों में निबंध लिखिए :
1. बेरोजगारी : कारण एवं निदान
2. स्वच्छ भारत अभियान
3. वृक्षारोपण
4. जीवन में खेलों का महत्त्व
5. विज्ञान : वरदान या अभिशाप
प्र25. निम्रलिखित अपठित गद्यांश को पढक़र नीचे लिखे किन्हीं चार प्रश्रों के लिखिए :
‘कला का कभी विभाजन नहीं हो सकताँ फिर भी अभिव्यक्ति और अनुभूति की दृष्टि से कला के दो स्थूल रूप है- उपयोगी कला और ललित कला। उपयोगी कला हमारे व्यावहारिक जीवन की आवश्यकता को पूरा करती है। सुनार, कुम्हार, लुहार आदि इसी श्रेणी में आते हैं। ललित कला के द्वारा हमारे हृदय को आनन्द प्राप्त होता है। यह आनन्द हमें श्रवणेन्द्रिय और नेत्रेन्द्रिय द्वारा प्राप्त होता है। ललित कलाएँ पाँच हैं- वास्तुकला, मूर्तिकला, चित्रकला, संगीत और काव्य-कला। संगीत और काव्य का आनन्द श्रवणेन्द्रिय से लिया जाता है।’
1. चित्रकला किस कला के अन्तर्गत आती है?
2. संगीत और काव्य का आनन्द किससे लिया जाता है?
3. गद्यांश का उपयुक्त शीर्षक दीजिए।
4. कला के दो स्थूल रूप क्या हैं?
5. व्यावहारिक जीवन की आवश्यकता पूरा करने वाली कला के नाम लिखिए।